भारतीय शेयर बाजार (Share Market) इस सप्‍ताह के सभी कारोबारी सत्र में दबाव में ही रहा और उसे लगातार गिरावट का सामना करना पड़ा। इसका कारन चीन सहित अन्य देशों में कोरोना का फैलना है।

जापान सहित दुनिया के कई देशों में दोबारा कोरोना महामारी फैलने से पूंजी बाजार पर खास दबाव है।

 ग्‍लोबल मार्केट में आ रही गिरावट का असर घरेलू निवेशकों के सेंटिमेंट पर भी दिखा और आज वे पांचवें सत्र में भी बिकवाली की तरफ जा सकते हैं।

सेंसेक्‍स पिछले सत्र में 241 अंकों की गिरावट के साथ 60,826 पर बंद हुआ था, जबकि निफ्टी 72 अंक टूटकर 18,127 पर पहुंच गया था।

हालिया रिपोर्ट से आज के कारोबार में भी निवेशकों पर बिकवाली का दबाव बना रहा।

ग्‍लोबल मार्केट की नरमी का निगेटिव असर घरेलू निवेशकों के सेंटिमेंट पर दिखा  और वे लगातार पांचवें सत्र में मुनाफावसूली की ओर बढे है।

अमेरिका और यूरोपीय बाजारों का हाल भी कोरोना के मामले बढ़ते ही अमेरिकी शेयर बाजार में भी भगदड़ मच गई है।

 अमेरिका के प्रमुख शेयर बाजारों में शामिल S&P 500 पर 1.45 फीसदी की गिरावट दिख रही है, जबकि DOW JONES 1.05 फीसदी टूट गया है।

  यूरोप के प्रमुख शेयर बाजारों में शामिल जर्मनी का स्‍टॉक एक्‍सचेंज पिछले सत्र में 1.30 फीसदी के नुकसान पर बंद हुआ

 फ्रांस का शेयर बाजार 0.95 फीसदी के नुकसान पर रहा।  लंदन स्‍टॉक एक्‍सचेंज भी पिछले सत्र में 0.37 फीसदी गिरकर बंद हुआ था।