यह मामला पलामू जिले के हरिहरगंज का है। जब एक महिला ने बैंक से पैसे निकालकर गिने तो 500 रूपये कम थे। महिला ने देने वाले के ऊपर इल्जाम लगाया।

इस बात को लेकर बैंक में खूब जमकर हंगामा हुआ। हंगामा इतना हुआ की बात जाँच सेक्योरिटी सी सी टी वी  तक पहुँच गयी।

 महिला ने अपने खाते से 49 हजार रुपए निकाले। वहीं पर महिला ने पैसे की गिनती शुरू की और पैसे देने वाले कैशियर पर आरोप लगाया कि उसने कम पैसे दिए हैं।

 हंगामा बढ़ा तो बैंक मैनेजर और दूसरे कस्टमर भी आ गये। कैशियर यह मानने को तैयार नहीं था कि उसने कम पैसे दिए हैं।

 हंगामा बढ़ रहा था तो मैनेजर ने सीसीटीवी कैमरे की जांच करने का आदेश दिया। बैंक में लगे सीसीटीवी कैमरा फुटेज खंगाला गया।

 सीसीटीवी फुटेज में दिखा कि महिला ने 500 रुपए छिपा लिए थे। पैसे छिपाने के बाद वह कैशियर पर आरोप लगा रही थी।

 सीसीटीवी फुटेज से सच सामने आ चुका था। महिला ने अपनी गलती स्वीकार कर ली और माफी मांगकर बैंक से चली गयी।

एसबीआई बैंक मैनेजर राजीव कुमार रंजन ने इस घटना के संबंध में कहा कि बैंक में सभी स्टॉफ ओनेस्टली अपना काम पूरा करते हैं।

 कुछ खाताधारी कर्मचारियों को बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं। जो कर्मचारिओं को निचा दिखाने का प्रयास है।

खाताधारीयों से बैंक मैनेजर ने कर्मचारियों के साथ मिलकर बेहतर काम करने और बैंक की इमेज ना बिगाड़ने की अपील की है।