कोलकाता ने आईपीएल नीलामी में आठ खिलाड़ियों को खरीदा। उसने अपने पुराने खिलाड़ी शाकिब अल हसन पर फिर से विश्वास जताया। इसके अलावा नामीबिया के 37 वर्षीय डेविड विसे तथा लिटन दस को भी उन्होंने खरीदा।

कोलकाता नाइटराइडर्स ने आईपीएल नीलामी से पहले अपने 16 खिलाड़ियों को रिलीज किया था।

ऐसे में उम्मीद थी कि टीम जब कोच्चि में शुक्र3 वार (23 दिसंबर) को उतरेगी तो कई खिलाड़ियों पर बोली लगाएगी।

कोलकाता ने ऐसा ही किया। नीलामी के दौरान शुरू में शांत रहने वाली इस टीम ने अंत में कई खिलाड़ियों को खरीदा।

 उसने आठ खिलाड़ियों को अपनी टीम में शामिल किया। कोलकाता की टीम में चार जगह खाली ही रह गए। उसने 1.67 करोड़ रुपये भी बचाए।

कोलकाता ने ट्रेड विंडो के जरिए अनुभवी तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर, लॉकी फर्ग्यूसन और अफगानिस्तान के ओपनर बल्लेबाज  रहमनुल्लाह गुरबाज को टीम में शामिल किया था।

 उसने नीलामी में नारायण जगदीशन, लिटन दास, शाकिब अल हसन, मनदीप सिंह, वैभव अरोड़ा, डेविड विसे, सूयश शर्मा और कुलवंत खेजरोलिया को खरीदा।

स्टंप के पीछे महेंद्र सिंह धोनी की मौजूदगी के कारण नारायण जगदीशन को चेन्नई सुपर किंग्स में ज्यादा खेलने का मौका नहीं मिला।

फ्रेंचाइजी ने उन्हें केवल 20 लाख रुपये में खरीदने के बावजूद नीलामी से पहले रिलीज कर दिया।उन्होंने विजय हजारे ट्रॉफी में लगातार पांच शतक लगाए हैं।

ये है कोलकाता के टीम: श्रेयस अय्यर (कप्तान), नितीश राणा, रहमनुल्लाह गुरबाज, वेंकटेश अय्यर, आंद्रे रसेल, सुनील नरेन, शार्दुल ठाकुर, लॉकी फर्ग्यूसन, उमेश यादव, टिम साउदी, हर्षित राणा, वरुण चक्रवर्ती, अनुकुल रॉय, रिंकू सिंह।