सऊदी अरब के शिक्षा विभाग ने एक अहम फैसला लिया है। इन्होने परीक्षा हॉल में लड़कियों के अबाया पहनकर आने पर रोक लगा दी है। अबाया सऊदी अरब में  महिलाओं द्वारा पहने जाने वाले बुर्के को कहते हैं।

यह भी बुर्के की तरह काले रंग की होती है जिससे उनका पूरा शरीर ढाका होता है। सऊदी अरब में यह पारम्परिक रूप से पहना जाता है।

सऊदी अरब के एजुकेशन और ट्रेनिंग इवोल्यूशन कमीशन (ETEC) ने घोषणा की है कि परीक्षा के दौरान लड़कियों को परीक्षा हाल में अबाया पहनने की अनुमति नहीं होगी।

इवोल्यूशन कमीशन ने जोर देकर कहा है कि छात्राओं को परीक्षा में बैठने केलिए  स्कूल यूनिफॉर्म के नियमों का पालन करना होगा।

 ETEC का कहना है कि स्कूल यूनिफॉर्म  सरकार द्वारा बनाए गए नियमों और सार्वजनिक मर्यादा के अनुरूप होने चाहिए।

ETEC सऊदी अरब का एक सरकारी संगठन है जो शिक्षा मंत्रालय के समन्वय में  सऊदी अरब में शैक्षनिक, ट्रेनिंग सिस्टम की योजना बनाने,  मूल्यांकन और उन्हें मान्यता देते है।

सऊदी में  ETEC कानूनी और आर्थिक रूप से स्वतंत्र घोषित है और ETEC को पहले शिक्षा मूल्यांकन प्राधिकरण के रूप में जाना जाता था।

सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने कई फैसले लिए हैं। 2017 में क्राउन प्रिंस के रूप में सलमान का ताजपोशी हुआ था। तब उन्होंने एक शाही फरमान जारी किया था

प्रिंस ने फरमान में कहा, सऊदी अरब की औरतें जून 2018 से ड्राइविंग लाइसेंस ले सकेंगी। मतलब की वे अब कार चला सकेंगी।

प्रिंस के इस फैसले से वह की युवा वर्ग की लड़कियां जमकर तारीफ की और काफी खुस हुयी। ये सऊदी में अब तक के सबसे अलग फरमान में से है।