पुरे विश्व में अक्टूबर के लास्ट से ही कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोतरी हो रहा है। भारत में कोविड केस की संख्या निचले स्तर पर है। रविवार को देशभर में कोविड से 15 लोगों की हुई मौत।

 भारत में पिछले तीन दिनों में कोरोना से एक भी मौत दर्ज नहीं हुई। मार्च 2020 में कोरोना के बाद कोरोना से होने वाली दर सबसे कम है।

लेकिन चीन और जापान जैसे देशों में कोविड काफी तेजी से बढ़ रहे हैं। खासतौर पर चीन में इन दिनों कोरोना कहर मचाये हुआ है।

चीन में बढ़ रहे कोरोना के कारन विशेषज्ञ ओमिक्रॉन के सबवेरिएंट BF.7 को प्रमुख जोखिम कारक मान रहे हैं। कोरोना के इस नए वेरिएंट ने भारत में भी चिंता बढ़ा दी है।

भारत में 5 महीनों से लगातार कोरोना में गिरावट देखी जा रही है। 5 से 17 अगस्त तक 326 केश दर्ज किया गया था। कुछ दिन तक यह मामला शून्य हो गया।

जहां भारत में कोविड मामलों में गिरावट हो रही है तो वहीं दूसरी ओर एशिया, यूरोप के अन्य देशों में हाल के हफ्तों में मामलों में वृद्धि देखी गई है।

 worldometers.info के अनुसार, 2 नवंबर के बाद से दुनियाभर में कोविड का ग्राफ बढ़ रहा है। नवंबर में 3.1 लाख तथा दिसंबर में बढ़कर यह 5.1 लाख हो गए।

फिलहाल जापान से सबसे ज्यादा कोविड केस सामने आ रहे हैं। हफ्तेभर में जापान में 1 मिलियन से ज्यादा कोरोना मामले सामने आए हैं।

जापान में वर्ल्डोमीटर वेबसाइट के अनुसार हफ्तेभर में 19% की वृद्धि के साथ 1,600 से ज्यादा मौतें हुई हैं।

 इसके अलावा साउछ कोरिया में 45000 नए केश वहीँ फ्रांस में 3.9 लाख और अमेरिका में 2.5 लाख नए केश दर्ज हुए है।