इस भीषण सर्दी में खुले में फुटपाथ पर रहने को मजबूर लोगों के लिए दिल्ली सरकार जरूरत के अनुसार जगह-जगह रैन बसेरों का प्रबंध कर रही है। जिससे कि लोगों को सर्दी से रहत मिले।

 जिस तरह से राजधानी दिल्ली में कई दिनों से कोहरा और कंपकपा देने वाली सर्दी का सितम जारी है।

ठण्ड को देखते हुए दिल्ली सरकार ने अपने नियमित रैन बसेरों अलावा तंबू वाले रेन बसेरों की भी शुरुआत कर दी है।

 ऐसा ही एक रैन बसेरा नजफगढ़ के साईं मंदिर के पास फुटपाथ के साथ बनाया गया है, जिससे कि ठंड सड़क पर सोने वाले बेसहारे लोगों को आसरा मिल सके और उन्हें दिल्ली की ठंड से बचाया जा सके।

दिल्ली की कड़कड़ाती सर्दी में खुले में फुटपाथ पर रहने को मजबूर लोगों के लिए दिल्ली सरकार जरूरत के अनुसार जगह-जगह रैन बसेरों को बना रही है।

 गरीब मजदूर और जरूरत मन्दों के लिए बनाए गए इस निशुल्क रैन बसेरे में 20 के करीब बिस्तरों का इंतजाम किया गया है।

  इस बिस्तर के साथ बिछावन, रजाई, गद्दे और कंबल की सुविधा उपलब्ध करवाई गई है। जो गरीब, बेसहारा फुटपाथ पर सोते हैं, वे सर्दी से बचने के लिए इसका सहारा ले रहे है।

इस रैन बसेरा के केयरटेकर समसुद्दीन ने बताया कि बिस्तर, कम्बल के अलावा सुबह और शाम दो टाइम की चाय भी यहां लोगों को उपलब्ध करवाई जा रही है।

 दो दिन में इस रैन बसेरे में खाना भी दिया जायेगा। जिससे लोग सर्दी से भी बचें और भूखे पेट भी कोई ना रह सकें।

 बढ़ती सर्दी को देखते हुए दिसंबर में इन रैन बसेरों की शुरुआत की गई।  फिलहाल एक टेंट में 15 लोग इस मुफ्त सुविधा का लाभ उठा सकते हैं।