बहुचर्चित पत्रकार और एंकर रवीश कुमार ने 30 Nov 2022 को रात 10 बजकर 42 मिनट में NDTV INDIA को अपने पद इ से इस्तीफा दे दिया है।

चैनल छोरन की ख्यालात रवीश जी के मन में कई बीते दिनों से चल रही थी और यह सूत्रों से पता चला है  जिसका कारन उनके अपने व्यक्तिगत विचार और आत्मनिष्ठा की भवना थी।

NDTV में रविश कुमार हमेसा देश हित और जनता के समर्थन में बोले है। उनकी ईमानदारी और निष्ठा लोगों के मन में घर कर लिया है जिससे वे सदा लोगों के मन में रहेंगे।

रवीश कुमार जी का जन्म बिहार में पश्चमी चम्पारण जिले में 4 DEC 1974 में हुआ था जो एक ब्राह्मण फैमिली से है। बचपन से ही उन्हें समाज सेवा की भावना थी। जो आगे चलकर सच साबित हुयी।

उन्होंने बचपन तक गांव के पब्लिक स्कूल में अपनी पढाई की बाद में दिल्ली जाकर अपनीं स्नातक और जौर्नालिस्ट  स्नाकोत्तर दिल्ली में आने के बाद पूरी की 

रवीश कुमार के सच्चे और निष्ठावान स्याक्तित्व के कारन ही देश के जनता उन्हें अधिक संख्या में FOLLOW करते है और इनकी सम्मान करते है। लोगो की भावनात्म दृश्टिकोण से भी उन्हें अच्छा सम्मान ही मिलता है।

रवीश कुमार ही एक ऐसे पत्रकार और एंकर है जो कई पुरुस्कार से सम्मानित है।  उन्हें रोमन मैग्सेसे प्रुस्कार मिला है, रामनाथ गोयनका उत्कृष्टता उन्हें दो बार मिला है जो किसी भी एंकर को नहीं मिला है।

रविश कुमार पत्रकार और एंकर होने के साथ साथ कई TV SHOW के होस्ट भी रह चुके है जिसके माध्यम से लोगो को व्यंगवादी समाचार और चुटकुले सुनके लोगों में हँसी के फुहारे छुड़वाते है।

रवीश कुमार कई किताबें भी लिखी है जिसमें उन्होने भारत की संस्कृति और कल्चर के बारे में बताई है और समाज की उत्तम भविष्य को मद्दे नजर रखकर इसकी  कल्पना की है।

रवीश कुमार देश और जनता के हित में बोलते थे जिसके कारन उन्हें कई अराजक तत्व से उन्हें जान से मारने की धमकी भी मिलती थी, लेकिन इसका उन्होंने कभी भी परवाह नहीं किया।