बीते सप्ताह लगातार गिरते शेयर मार्केट में अडानी ग्रुप की कंपनियों के शेयरों में भी भारी गिरावट देखने को मिली है। अडानी ग्रुप की कंपनियों के मार्केट कैप में भारी गिरावट आयी है।

 अडानी ग्रुप की कंपनियों के शेयरों ने चार दिनों की बिकवाली के बीच ऐसा डूबी लगाया कि  1.70 लाख करोड़ रुपये चौपट हो गए।

 अडानी विल्मर, अडानी पावर और अडानी ट्रांसमिशन  के शेयरों में भारी गिरावट दर्ज की गई।

अडानी विल्मर के शेयर शुक्रवार को सात फीसदी से अधिक गिरकर 512.65 रुपये पर आ गए थे।

 इसके साथ ही कंपनी के शेयर चार दिन में 18.53 टूटे. इस बीच चार दिन की की गिरावट के दौरान बीएसई सेंसेक्स में 1,630 अंक या 2.65 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई।

 अडानी पावर के शेयरों में शुक्रवार को लोअर सर्किट लग गया था।अतः पांच फीसदी की गिरावट के साथ 262.20 रुपये पर बंद हुआ था। 19 -23 दिसंबर के बिच 14.28 पर टूटा।

अडानी ट्रांसमिशन का शेयर बीएसई पर 9.29 फीसदी की गिरावट के साथ 2,284 रुपये पर क्लोज हुआ था।

 शुक्रवार तक के चार सत्रों में यह शेयर 13 फीसदी से अधिक टूटा..अडानी एंटरप्राइजेज 5.65 फीसदी की गिरावट के साथ 3,650 रुपये पर क्लोज हुआ.

पिछले चार सत्रों में यह शेयर 8.51 फीसदी गिरा है. पिछले चार सेशन में अडानी ग्रुप 8 फिशदि से अधित टूटा है।

सात अडानी समूह की कंपनियों के शेयरों का कॉम्बाइंड एम-कैप 17.04 लाख करोड़ रुपये रहा।