Shri Ram Ji Ki Aarti lyrics PDF | श्री रामचन्द्र कृपालु भजमन PDF Download Link

Contents

Shri Ram Ji Ki Aarti lyrics PDF | श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन आरती :- Dear friends if you Want to read and download Shri Ram Ji Ki Aarti file then download it by clicking on the download button given below | आसानी से डाउनलोड करे श्री राम आरती पीडीऍफ़ फाइल आप को डाउनलोड लिंक नीचे मिल जायेगा |

हिंदू धर्म के अनुसार भगवान श्रीराम का जन्म चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की नवमी को अयोध्या नगरी में राजा दशरथ जी के घर में हुआ था तथा श्री राम के माता जी का नाम कोशल्या था । हमारे देश में इस दिन भगवान श्री राम के जन्म उत्सव को राम नवमी के तोर पर बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। सभी लोग इस दिन भगवान श्री राम को याद कर के उनकी घर,मंदिरों में पूजा अर्चना करते है।

Download Link :- श्री राम चालीसा का सम्पूर्ण पाठ और श्री राम जी ले मंत्रो का उच्चारण जरुर करे

Download Link :- सुन्दरकाण्ड पाठ लिरिक्स पढ़े और डाउनलोड करे-

Download Link :- हनुमान चालीसा पाठ पढ़े और पीडीऍफ़ फाइल डाउनलोड करे-

महान विद्वानों, और पंडितो का कहना है कि मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम की पूजा अर्चना या उनकी भगती करने से सभी बाधाएं-पीड़ा दूरतो होती ही है साथ ही साथ मन शांत होता है। शास्त्रों के अनुसार रामनवमी की दिन भगवान श्री राम की आरती,चालीसा और भगवान श्री राम के सच्चे भगत वीर हनुमान जी को याद और उनकी पूजा किये बिना उनकी पूजा अधूरी मानी जाती है।

Shri Ram Ji Ki Aarti
Shri Ram Ji Ki Aarti

श्री रामचन्द्र कृपालु भजमन आरती फाइल की जानकारी | Shri Ram Ji Ki Aarti PDF file Details

Name of the PDF FileShri Ram Ji Ki Aarti
PDF File Size1.02 MB
CategoriesReligious
BeneficiaryFor All People
SourcePDFHIND.COM
ModeOnline/Offline
Uploaded on12-03-2022
PDF LanguageHINDI

हिन्दू धर्म में सबसे ज्यादा पूजे जाने वाले है श्री राम | श्री राम जी भगवान विष्णु जी के सबसे शांत अवतारों में है | भगवान श्री राम को मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम कहा जाता है क्यों की श्री राम को पुरुषो में सबसे श्रेष्ठ और उत्तम माना गया है इसीलिए पुरुषोतम कहा गया है | भगवन श्री राम जी का यह अवतार घमंडी रावण के घमंड, पाप, अत्याचार को ख़त्म करने के लिए लिया था |

श्री राम जी की आरती करने फायेदे | Benifits of Shri Ram Aarti

  • अगर आप के काम नहीं बन रहा है या फिर कोई रुकावट आ रही है तो आप श्री राम जी की पूजा अर्चना में ध्यान दे आपको अच्छे परिणाम मिलेगे |
  • राम जी की आरती करने से भगवन श्री राम अपने भगतो के दुःख हर लेते है |
  • राम की भगति करने से बिगड़े काम बनने लगते है |
  • भगवन श्री राम जी के आशीर्वाद से घर में सुख-शांति और ख़ुशी का माहोल रहता है |
  • भगवान की भागती से नकारात्मक सोच से सकारात्मक सोच की ओर बढते है |
  • भगवान को प्रशन्न कर उनका आशीर्वाद बना रहता है जिन्दगी में आने वाली परेशानियों से लड़ने की शक्ति मिलती है |
  • घर में सुख-शांति बनाये रखने के लिए आप श्री राम की आरती और चालीसा का सहारा के सकते है |
  • भगवान के आशीर्वाद से गृह-कलेश, रिश्तो में रूकावट, परेशानियों से छुटकारा मिलता है |

Shri Ram Ji Ki Aarti

Shri Ram Ji Ki Aarti lyrics | श्री रामचन्द्र कृपालु भजमन आरती

श्री राम चंद्र कृपालु भजमन हरण भाव भय दारुणम्।
नवकंज लोचन कंज मुखकर, कंज पद कन्जारुणम्।।
श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन…॥

कंदर्प अगणित अमित छवी नव नील नीरज सुन्दरम्।
पट्पीत मानहु तडित रूचि शुचि नौमी जनक सुतावरम्।।
श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन…॥

भजु दीन बंधु दिनेश दानव दैत्य वंश निकंदनम्।
रघुनंद आनंद कंद कौशल चंद दशरथ नन्दनम्।।
श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन…॥

सिर मुकुट कुण्डल तिलक चारु उदारू अंग विभूषणं।
आजानु भुज शर चाप धर संग्राम जित खर-धूषणं।।
श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन…॥

इति वदति तुलसीदास शंकर शेष मुनि मन रंजनम्।
मम ह्रदय कुंज निवास कुरु कामादी खल दल गंजनम्।।
श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन…॥

मनु जाहिं राचेऊ मिलिहि सो बरु सहज सुंदर सावरों।
करुना निधान सुजान सिलू सनेहू जानत रावरो।।
श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन…॥

एही भांती गौरी असीस सुनी सिय सहित हिय हरषी अली।
तुलसी भवानी पूजि पूनी पूनी मुदित मन मंदिर चली।।
श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन…॥

जानि गौरी अनुकूल सिय हिय हरषु न जाइ कहि।
मंजुल मंगल मूल वाम अंग फरकन लगे।।
श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन…॥

श्री राम चंद्र कृपालु भजमन हरण भाव भय दारुणम्।
नवकंज लोचन कंज मुखकर, कंज पद कन्जारुणम्।।
श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन…॥

Shri Ram Ji Ki Aarti lyrics

Leave a Comment