Brihaspati mantra in hindi | ब्रिहष्पति मंत्र हिंदी लिरिक्स में पीडीऍफ़ डाउनलोड करें

Brihaspati mantra in hindi | ब्रिहष्पति मंत्र :- From here you can easily download the mantras of Brihaspati from the download link given below. यहाँ से आसानी से बृहस्पति के मंत्रो के पाठ कर सकते है और निचे दिए गये पीडीऍफ़ डाउनलोड लिंक से आप पीडीऍफ़ फाइल भी डाउनलोड कर सकते है |

दोस्तों ब्रस्पति वार भगवान विष्णु जी का दिन होता है इस दिन अगर सच्चे मन से विष्णु जी की आरती, चालीसा, कथा और मंत्रो का जाप करने से भगवान विष्णु जी का आशीर्वाद बना रहता है और उनकी दया-द्रष्टि से सब कार्य कुशल-मंगल होते है |

और पढ़े : शिव चालीसा इन हिंदी और अंगेजी और जाने शिव चालीसा के पाठ के महत्त्व

और पढ़े :- श्री हरी स्तोत्रम पाठ को पढने के फायेदे जाने

और पढ़े :- ॐ जय जगदीश हरे आरती पढ़े

आज के समय में हर व्यक्ति अपने कामो मे इतना व्यस्त हो गया है की वे भगवान की भागती के लिए भी समय नहीं निकाल पाते है जैसे की आप को पता भी है की अगर सच्चे मन से हम कोई भी कार्य करते है तो वह सही और पूरा होता है | वही अगर आप भी भगवान को रोजाना या हर ब्रहस्पति वार को विष्णु जी यो याद करते है तो उनका आशीर्वाद हमें मिल सकता है | दोस्तों ज्यादा भी नहीं तो आप ब्रहस्पतिवार को सुबह-सुबह जल्दी नाहा-धो कर आप विष्णु जी की आरती, चालीसा, कथा और मंत्रो में से कोई भी एक का पाठ कर के आप विष्णु जी को प्रसन्न कर सकते है |

Brihaspati mantra
Brihaspati mantra

ब्रिहष्पति मंत्र हिंदी लिरिक्स फाइल की जानकारी | Brihaspati mantra PDF file Details

Name of the PDF FileBrihaspati mantra
PDF File Size1.02 MB
CategoriesReligious
BeneficiaryFor All People
SourcePDFHIND.COM
ModeOnline/Offline
Uploaded on19-03-2022
PDF LanguageHINDI
ब्रिहष्पति मंत्र हिंदी लिरिक्स

विष्णु जी को श्रष्टि के रखवाले कहा जाता है और सभी देवताओ में सबसे महान देवताओ में से है | अगर आप पर भगवान विष्णु जी की कृपया हो जाये तो आप को सभी प्रकार से ख़ुशी मिलती है अगर आप विष्णु जी के मंत्रो का जाप करना चाहते है तो आप इस पोस्ट के निचे हम ने ब्रिहष्पति मंत्रो का पीडीऍफ़ फाइल भी दिया है आप वहां से सिंगल क्लिक कर के आसानी से फाइल डाउनलोड कर सकते है |

विष्णु जी की आराधना कैसे करे | कैसे खुश करे भगवान विष्णु ही को

  • आप को इस दिन (ब्रिहष्पति वार) आप सुबह जल्दी उठे
  • सुबह उठने के बाद नित्य क्रिया कर स्नान कर के आप को पीले रंग के वस्त्र धारण करने है
  • उस के बाद आप मंदिर या पूजा के स्थान को शुद्ध कर के पूजा के लिए विराजमान हो जाये
  • फिर आप अपने और पूजा में बेठे सभी सदस्यों को हल्दी का तिलक करे
  • फिर सरसों के तेल का दीपक करे
  • दीपक कर के आप पूजा कर सकते है
  • और आप के घे में केले का पौधा है तो आप उस की भी पूजा कर सकते है
  • केले की जड़ में गुड और चने की दाल का प्रशाद चडावे

बृहस्पति (गुरुवार) मंत्र | Brihaspati mantra

प्यारो भगतो आप को यहाँ पर बृहस्पति के सभी प्रकार के मंत्रो का पीडीऍफ़ फाइल और लेख ले कर आये है तो आप एक एक कर के सभी मंत्रो का उच्चारण करे |\

श्री बृहस्पति गायत्री मंत्र | Shri Brihaspati Gayetri mantra

ॐ अंशगिरसाय विद्महे दिव्यदेहाय धीमहि तन्नो जीव: प्रचोदयात्।

श्री बृहस्पति ध्यान मंत्र | Shri Brihaspati Dyhan mantra

ॐ बृं बृहस्पतये नमः

श्री बृहस्पति मंत्र फॉर मैरिज | Shri Brihaspati mantra for Marriage

देवानां च ऋषीणां च गुरुं का चनसन्निभम।

श्री बृहस्पति वैदिक मंत्र | Shri Brihaspati Veidik mantra

बुद्धि भूतं त्रिलोकेशं तं नमामि बृहस्पितम।

श्री बृहस्पति देव का बीज मंत्र / Shri Brihaspati Beej Mantra

ॐ ग्रां ग्रीं ग्रौं स: गुरवे नम:।

Leave a Comment